लंदन: प्रत्यर्पण की उल्टी गिनती शुरू, सुनवाई से पहले बोले माल्या-मैंने सेटलमेंट का ऑफर दिया था

विजय माल्या के प्रत्यार्पण के मामले की उल्टी गिनती शुरू हो चुकी है| मंगलवार को विजय माल्या के मामले में लंदन कोर्ट में अंतिम सुनवाई होगी| इसके बाद इस मामले में किसी भी क्षण फैसला आ सकता है|

नई दिल्ली: देश का 9000 करोड़ रुपया लेकर भागे उधोगपति विजय माल्या के प्रत्यार्पण के मामले की उल्टी गिनती शुरू हो चुकी है| सुनवाई के पहले विजय माल्या ने कहा कि मनी लॉन्ड्रिंग के आरोप गलत है, मैंने सेटलमेंट का ऑफर दिया था|

विजय माल्या ने कहा कि मनी लॉन्ड्रिंग के आरोप गलत, पैसे चोरी करने का सवाल ही नहीं| मैंने कर्नाटक कोर्ट को सेटलमेंट का ऑफर दिया था| कहा था कि भारत में मेरी संपत्ति रख ली जाए  सब लोग खुश रहें|

मंगलवार को विजय माल्या के मामले में लंदन कोर्ट में सुनवाई हो रही है| इसके बाद इस मामले में किसी भी क्षण फैसला आ सकता है| आलम यह है कि सीबीआई और ईडी दोनों की टीमें लंदन पहुंच चुकी हैं और दोनों ही पक्ष फैसला उनके खिलाफ जाने की स्थिति में लंदन की सुप्रीम कोर्ट में माल्या के खिलाफ अपील दायर कर सकते हैं|

किस बैंक का कितना बकाया ?

ORDER NOW

SBI – 1875 करोड़
IDBI – 886 करोड़
PNB – 815 करोड़
बैंक ऑफ इंडिया – 666 करोड़
सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया – 640 करोड़
यूनाइटेड बैंक ऑफ इंडिया – 415 करोड़
यूको बैंक – 351 करोड़
कॉर्पोरेशन बैंक – 313 करोड़
स्टेट बैंक ऑफ मैसूर – 169 करोड़
इंडियन ओवरसीज बैंक – 157 करोड़
फेडरल बैंक – 102 करोड़
पंजाब एंड सिंध बैंक – 62 करोड़
एक्सिस बैंक – 56 करोड़

कुल – 6,956 करोड़
ब्याज – 2476 करोड़

कुल बकाया – 9456 करोड़ रुपये

विजय माल्या का कारोबार

ORDER NOW

– शराब उत्पादन और एयरलाइंस
– शराब उत्पादन कंपनी – यूनाइटेड ब्रेवरीज
– माल्या ने यूबी ग्रुप को 2013 में डियागो को बेच दिया
– विमान कंपनी – किंगफिशर एयरलाइंस
– 2012 से किंगफिशर एयरलाइंस जमीन पर है
– 2006 में 1026 करोड़ की कीमत की लग्जरी याट खरीदी
– 2007 में फॉर्मूला वन टीम खरीदी थी
– 2008 में IPL की टीम रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर खरीदी
– 2009 में 750 करोड़ की लागत से लक्षद्वीप, यूरोप में द्वीप खरीदे
– 2013 में फोर्ब्स की सूची में भारत 84वां सबसे अमीर शख्स था
– 2013 में माल्या की कुल संपत्ति 4792 करोड़ थी
– माल्या पर 9432 करोड़ का बैंकों का कर्ज है

लंदन में हैं CBI और ED के अधिकारी
सूत्रों के मुताबिक लंदन में मामले की पैरवी कर रही लंदन की सरकारी एजेंसी क्राउन प्रॉसिक्यूशन ने सीबीआई और ईडी दोनों के अधिकारियों से मंगलवार को कोर्ट में पेश रहने को कहा है जिससे किसी भी अप्रत्याशित स्थिति में सुप्रीम कोर्ट जाने की तैयारी की जा सके | सीबीआई और ईडी दोनों के अधिकारी लंदन पहुंच चुके हैं|

दी जा सकती है आगे की तारीख

ORDER NOW


सूत्रों के मुताबिक क्राउन प्रॉसिक्यूशन ने मामले से जुड़े सभी असली दस्तावेज भी अधिकारियों से मांगे है जिनमें सीबीआई के गवाहों के वो बयान भी शामिल हैं जिसपर शुरुआती दौर में माल्या के वकीलों और कोर्ट दोनों को आपत्ति थी| सूत्रों ने बताया कि सुनवाई खत्म होने पर ये कोर्ट के जज पर निर्भर करता है कि वो तुरंत फैसला सुना दें या फिर फैसले के लिए अगली तारीख दे दें|

माल्या भी जा सकता है सुप्रीम कोर्ट
जांच से जुडे एक आला अधिकारी ने बताया कि लंदन कोर्ट का फैसला चाहे माल्या के हक मे जाए या भारत के दोनों ही पक्ष फैसले के खिलाफ वहां के सुप्रीम कोर्ट में जा सकते हैं| ऐसी स्थिति में माल्या के भारत आने में और भी विलंब हो सकता ह| हालांकि, माल्या की मुसीबतें कम होने का नाम नहीं ले रही हैं क्योंकि लंदन कोर्ट से दूसरे मामलों में उसे राहत नहीं मिल रही है|

भारत में भी ईडी ने उसके खिलाफ भगोड़े आर्थिक अपराधी अधिनियम के तहत मुकदमा डाल दिया है. इसपर 27 अगस्त को सुनवाई होनी है| इस कानून में सरकारी एजेंसियों के पास अपराधी की निजी संपत्ति जब्त करने का अधिकार है जिसे लेकर माल्या खासा परेशान बताया जाता है|

विजय माल्या के प्रत्यर्पण मामले की उल्टी गिनती शुरू|

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *